गुलाब की महक भी फीकी लगती है, कौन सी खुश्बू मुझमे बसा गयी हो तुम, ज़िंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा, यह कैसा ख्वाब आँखो को दिखा गयी हो तुम!!

गुलाब की महक भी फीकी लगती है, कौन सी खुश्बू मुझमे बसा गयी हो तुम, ज़िंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा, यह कैसा ख्वाब आँखो को दिखा गयी हो तुम!!:
Directly Go To:
Share this Status Message
Share this Status Message

गुलाब की महक भी फीकी लगती है, कौन सी खुश्बू मुझमे बसा गयी हो तुम, ज़िंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा, यह कैसा ख्वाब आँखो को दिखा गयी हो तुम!! – लव स्टेटस इन हिन्दी

Leave a Reply